2019

यह कुचक्र तोड़ना ही होगा अश्लीलता की प्रवृत्ति एक भयानक विषबेल की तरह अपना प्रभाव दिखा रही है। एक पतली सी बेल, जिसमें वृक्षों, पौधों की तरह अपने बूते खड़े होने की क्षमता भी नहीं है, भूमि पर फैलती हुई इतने विषैले फल पैदा कर देती है जो समाज के एक... See More

लक्ष्य सदानीरा निर्मल गंगाउद्देश्य• जल ही जीवन है अत: जल की स्वच्छता और जैव विविधता के संरक्षण का संगठित प्रयास।  • लोकमाता जाह्नवी गंगा लोकमाता है अत: गंगा पुत्रों को अपनी माँ के प्रति कर्तव्यों का स्मरण कराना एवं पालन हेतु प्रेरणा।• स्रोतसामस्मि जाह्नवी सभी जल स्रोत गंगा हैं अत: देश के सभी जलस्रोतों... See More

... See More

... See More

समय : गुरुपूर्णिमा से श्रावणी पूर्णिमा तक ।Note : चान्द्रायण व्रत की यह साधना साधकों को अपने घर पर रह कर ही संपन्न करनी है । इस के लिए शांतिकुंज  नहीं आना होगा । पंजीयन करने का उद्देश्य सभी साधकों की सूचना एकत्र करना एवं शांतिकुंज स्तर पर दोष परिमार्जन... See More